अपराध/हादसा

दुष्कर्म-हत्या के आरोपी ने खुद को नाबालिग बताने के लिए दिया फर्जी जन्म प्रमाण पत्र, कई लोगों पर मुकदमा दर्ज

By Vinod Kumar -- September 02, 2022 2:13 pm

चरखी दादरी/प्रदीप साहू: किशोरी से दुष्कर्म और हत्या के आरोपी को नाबालिग साबित करने के लिए कोर्ट में फर्जी जन्म प्रमाण पत्र पेश करने का मामला सामने आया है। भिवानी क्राइम ब्रांच ने इसकी जांच की तो मामले का खुलासा हुआ।

अब क्राइम ब्रांच जांच अधिकारी की जांच रिपोर्ट के आधार पर झोझूकलां थाना पुलिस ने इस संबंध में आरोपी, उसके पिता, कार्यालय जन्म-मृत्यु सब रजिस्ट्रार नरेला नई दिल्ली, कार्यालय उपमंडल मजिस्ट्रेट नरेला नया बाग दिल्ली व अन्य के खिलाफ धारा 177, 193, 200, 420, 467, 468 व 471 के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

बता दें कि 16 वर्षीय कबड्डी खिलाड़ी गत 26 सितंबर 2021 को घर से संदिध परिस्थितियों में लापता हुई थी। उसके पिता की शिकायत पर झोझूकलां थाने में इस संबंध में गुमशुदगी का केस दर्ज किया गया था। पुनिस ने 29 सितंबर को किशोरी का शव गांव के तालाब से बरामद किया था।

युवती के पिता की शिकायत पर गांव के ही युवक और अन्य के खिलाफ दुष्कर्म, हत्या व पॉक्सो एक्ट समेत अन्य धाराओं के तहत केस दर्ज किया था। पुलिस ने आरोपी को 29 सितंबर को गिरफ्तार कर 30 सितंबर को कोर्ट में पेश किया था। वहां से उसे भिवानी जेल भेजा गया।

वहीं, आरोपी के परिजनों ने अतिरिक्त सेशन जज हेमंत यादव की कोर्ट में आरोपी के नाबालिग होने का हवाला देते हुए जन्म प्रमाण पत्र संबंधी दस्तावेज पेश किया था। कोर्ट की ओर से इसकी जांच करने का आदेश दिया गया। 25 अक्तूबर को जांच अधिकारी ने कोर्ट में अपनी रिपोर्ट पेश की। इससे आरोपी किशोर नाबालिग सिद्ध हो गया।

24 दिसंबर 2021 को चालान जुवेनाइल कोर्ट में पेश किया और 24 जनवरी 2022 को आरोपी जमानत पर रिहा हुआ। शिकायतकर्ता ने इसके बाद आरोपी की जन्मतिथि छोटी कराने का आरोप लगाते हुए जांच एजेंसी भिवानी क्राइम ब्रांच को शिकायत दी। इसके बाद जांच के लिए आरोपी के स्कूल, जन्म-मृत्यु कार्यालय चरखी दादरी, सीएचसी झोझूकलां, जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास चरखी दादरी व सब रजिस्ट्रार कार्यालय नरेला दिल्ली से रिकॉर्ड हासिल किया गया।

रिकॉर्ड के अवलोकन से साहिल की पहली कक्षा से नौंवी कक्षा तक पढ़ते समय जन्म तिथि 16 नवंबर 2006 की बजाय 16 नवंबर 2004 पाई गई। फर्जी दस्तावेज में जन्मतिथि 16 नवंबर 2006 दर्शाई गई थी। अन्य रिकॉर्ड की जांच करने पर भी जन्मतिथि अलग-अलग होने की बात सामने पाई गई।

कबड्डी खिलाड़ी थी मृतका
16 वर्षीय मृतका कबड्डी खिलाड़ी थी और उसका शव मिलने के बाद परिजनों ने दादरी-नारनौल मुख्यमार्ग पर जाम लगाया था। यह मामला सितंबर 2021 में सुर्खियों में रहा था और दादरी पुलिस की जांच पर असंतुष्टि जाहिर करने पर मामले की जांच क्राइम ब्रांच भिवानी को सौंपी गई थी।

 

  • Share