अपराध/हादसा

गणपति विसर्जन के दौरान सोनीपत में 4 की डूबने से मौत, मृतकों में एक ही परिवार के तीन लोग

By Vinod Kumar -- September 10, 2022 11:23 am

सोनीपत/जयदीप राठी: गणपति विसर्जन के दौरान चार श्रद्धालुओं की यमुना के मीमारपुर और बेगा घाट पर डूबने से मौत हो गई। मीमारपुर घाट पर पिता-पुत्र सहित एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत हो गई। तीनों के शव बरामद कर लिए गया है। लोगो, गोताखोरों और पुलिस की कड़ी मशक्कत के बावजूद चारों को नहीं बचाया जा सका।

पुलिस ने चारों के शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सोनीपत के सिविल अस्पताल में भिजवा दिया है और हादसे की जांच शुरू कर दी है। बता दें कि शुक्रवार को गणेश चतुर्थी के बाद गणपति विसर्जन था। शहर से श्रद्धालु भगवान गणेश की मूर्ति विसर्जन करने के लिए नाचते-गाते हुए श्रद्धालु यमुना के मीमारपुर घाट पर पहुंचे। इन दिनों यमुना में जलस्तर ज्यादा होने के साथ ही बहाव भी तेज था।

सुंदर सांवरी के सुनील आपने बेटे कार्तिक व भतीजे दीपक के साथ मिलकर मूर्ति विसर्जन करने के लिए यमुना में चले गए। इसी दौरान तेज बहाव में वह बह गए। वहां पर मौजूद श्रद्धालुओं ने उन्हें बचाने का प्रयास भी किया, लेकिन बहाव अधिक होने से वह कामयाब नहीं हो सके।

सूचना के बाद मुरथल थाना से टीम और गोताखोर घाट पर पहुंच गए और तलाश शुरू की। घंटों की मशक्कत के सुनील और उनके भतीजे का शव निकाल लिया गया। वहीं सुनील के बेटे कार्तिक के शव को भी बरामद कर लिया गया है। दूसरा हादसा बेगा घाट पर हुआ। बेगा घाट पर गन्नौर का रहने वाला सुमित भी साथियों के साथ मूर्ति विसर्जन करने गया था और वह भी यमुना के तेज बहाव के साथ पानी में बह गया। उसके शव को भी पुलिस ने बरामद कर लिया है।

वहीं, गणपति विसर्जन के दौरान महेंद्रगढ़ में कनीना-रेवाडी रोड पर स्थित झगड़ोली गांव में एक बड़ा हादसा हो गया। गणपत्ति विसर्जन के दौरान 8 लोग नहर में डूब गए। हादसे के बाद रेस्क्यू ऑप्रेशन शुरू किया गया। जब तक डूब हुए लोगों को बाहर निकाला जाता तब तक 4 की मौत हो चुकी थी, जबकि चार लोगों को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।

  • Share