किसानों ने निकाली केंद्र सरकार की शव यात्रा, पुतला फूंका

Farmer took out funeral procession of central government, burnt effigy

भिवानी। (कृष्ण सिंह) तमाम किसान संगठनों के आह्वान पर बुलाए गए भारत बंद में किसानों और खेती मजदूरों ने बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया। इस दौरान ‘किसान व मजदूर विरोधी काले’ कानूनों को रदद करने की मांग को लेकर केंद्र सरकार की शव यात्रा निकाली गई व हांसी गेट पर पुतला दहन किया गया।

Farmer took out funeral procession of central government, burnt effigy

किसान संगठनों की ओर से प्रातः स्थानीय नेहरू पार्क भिवानी में एक सभा भी आयोजित की गई। सभा में सभी वक्ताओं ने केन्द्र सरकार के तीन कृषि कानूनों को किसान व जनता विरोधी बताया और कहा कि ये न केवल किसानों को बर्बाद करके बन्धुआ मजदूर बना देंगे बल्कि गरीबों के लिए सार्वजनिक वितरण प्रणाली को भी खत्म कर देंगें।

यह भी पढ़ेंकृषि मंत्री जेपी दलाल का जबरदस्त विरोध, किसानों और PTI टीचरों ने दिखाए काले झंडे

PM Modi on Farmers Protest | Farmers Chakka Jam in Punjab Haryana

educareकिसान नेताओं के मुताबिक इससे मंहगाई पर रोक लगाना मुश्किल हो जायेगा। जिससे ना केवल किसानों व मजदूरों की बल्कि जनता की भारी लूट के अवसर मिल जाऐगे और पूरे किसान वर्ग को कॉरपोरेट द्वारा लूट कर भूखा मारने की स्थिति में ला देगें। उन्होंने कहा कि मजदूरों के तमाम सुरक्षा कानून खत्म करके उनके शोषण की चक्की में झोक देंगें। इससे बड़े पैमाने पर बेरोजगार मजदूर आत्महत्या करने पर मजबूर हो जाएंगे।

यह भी पढ़ें: फसलें एमएसपी पर नहीं खरीदी गई तो सबसे पहले दूंगा इस्तीफा: दुष्यंत चौटालाPM Modi on Farmers Protest | Farmers Chakka Jam in Punjab Haryana

किसान नेताओं ने कहा कि नए कानूनों से सामाजिक सुरक्षा के तमाम कानूनों को खत्म करके मालिकों के रहमोकर्म पर जीने के लिए मजबूर किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार इन जन विरोधी कानूनों को रदद करें।