जींद महापंचायत में भारी संख्या में पहुंचे लोग, किसान नेता राकेश टिकैत ने भरा जोश

By Arvind Kumar - February 03, 2021 2:02 pm

जींद। जींद के कंडेला गांव में हजारों की संख्या में किसान आज जमा हुए और महापंचायत कर एक सुर में तीन कृषि कानूनों की वापसी की सरकार से मांग कीकिसान नेता राकेश टिकैत की अगुवाई में इस पंचायत में किसानों ने साफ किया कि सरकार को तीनों कृषि कानून वापस लेने ही होंगे। किसानों का कहना है कि एमएसपी पर कानून को अमलीजामा जरूर पहनाया जाएगा और ऐसा नहीं होने तक किसान पीछे नहीं हटेंगे।

Rakesh Tikait in Jind Mahapanchayat जींद महापंचायत में भारी संख्या में पहुंचे लोग, किसान नेता राकेश टिकैत ने भरा जोश

इसके साथ ही किसानों ने मांग की कि सरकार तुरंत प्रभाव से स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट को पूरी तरह से लागू करे। अब तक जितने भी किसानों को हिरासत में लिया गया है या जितने भी ट्रैक्टर पकड़े गए हैं उन्हें रिहा किया जाए। इसके साथ ही किसानों पर जो मुकद्दमें दर्ज किए गए हैं उन्हें भी तुरंतप्रभाव से रद्द किया जाए।
किसानों की इस महापंचायत में किसान नेता राकेश टिकैत के साथ ही किसान नेता गुरनाम सिंह चढूनी पहुंचे थे। इसके अलावा किसान यूनियन के राष्ट्रीय महासचिव युद्धवीर सिंह और किसान नेता बलबीर राजेवाल भी इस पंचायत में शामिल हुए। इससे पहले गुरनाम चढूनी ने कृषि कानूनों को लेकर सरकार पर हमला बोला। चढूनी ने कहा कि जो राज जनता के लिए होना था वो आज पूंजीपतियों के लिए हो गया है और सरकार पूरी रतह से पूंजीपतियों की सरकार बन कर रह गई है।

Rakesh Tikait in Jind Mahapanchayat जींद महापंचायत में भारी संख्या में पहुंचे लोग, किसान नेता राकेश टिकैत ने भरा जोश

किसान आंदोलन पर चढूनी ने कहा कि ये आंदोलन एक जन आंदोलन बन गया है और जितने भी कानून कृषि को लेकर बनाए गए हैं वो सिर्फ आम जनता और किसाों को लूटने के लिए बनाए गए हैं। किसानों ने इस पंचायत के दौरान मांग की कि जो कमेटी किसनों और सरकार के बीच गतिरोध खत्म करने के लिए बनाई जा रही है उसमें खुद प्रधानमंत्री भी शामिल हों और पीएम खुद किसानों से बात कर उनकी बात सुनने का काम करें।
इस बीच किसानों ने 6 फरवरी को देशव्यापी चक्का जाम करने का भी ऐलान कर रखा है और इस चक्का जाम के जरिए एख बार फिर किसान सरकार को अपनी ताकत दिखाने की कोशिश में है। चक्का जाम को लेकर गांव-गांव जाकर किसान आम लोगों से भी इसमें शामिल होने की अपील कर रहे हैं और इसी के चलते पुलिस भी दिल्ली बॉर्डर की किलेबंदी और ज्यादा मजबूत करने में जुटी है।

यह भी पढ़ें- CBSE की कक्षा 10 और 12 की परीक्षाओं की डेटशीट जारी

यह भी पढ़ें- घोर लापरवाही! बच्चों को पोलियो के बजाए पिला दिया सैनेटाइजर

Rakesh Tikait in Jind Mahapanchayat जींद महापंचायत में भारी संख्या में पहुंचे लोग, किसान नेता राकेश टिकैत ने भरा जोश

नुकीली तारों और कीलों की मदद से दिल्ली की सीमाओं को पूरी तरह सील किया गया है जबकि किसान लगातार आंदोलन के शांतिपूर्ण रहने का दम भर रहे है। इस बीच जींद में आज हुई महापंचायत में एक बार फिर किसान का मनोबल बढ़ा है और किसान सरकार के खिलाफ इस लड़ाई में अपनी एकजुटता जाहिर करने में जुटे हैं।

adv-img
adv-img