आप नेता मनोज राठी को 1 करोड़ की मानहानि का नोटिस, विरोध में देंगे धरना

हांसी। (संदीप सैनी) आम आदमी पार्टी के नेता मनोज राठी को हांसी के विधायक विनोद भयाना ने मानहानि का दूसरी बार नोटिस भेजा है। आरोप है कि मेम के बाग की जमीन के मामले में विधायक पर एक वीडियो में बेबुनियाद आरोप लगाते हुए उनकी छवि खराब करने की कोशिश की गई।

विधायक द्वारा 1 करोड़ रुपये का मानहानि का नोटिस भेजा गया है। जिसके खिलाफ मनोज राठी ने गुरुवार को रेस्ट हाउस में पत्रकार वार्ता की और कहा कि इस प्रकार के नोटिस से वह डरने वाले नहीं और हांसी में विपक्ष की भूमिका में निभाते रहेंगे। नोटिस के खिलाफ आम आदमी पार्टी द्वारा शुक्रवार को हिसार में भाजपा मुख्यालय के समक्ष धरना देने का ऐलान किया है।

मनोज राठी ने कहा कि सरकार अपने विधायक को बचाने का प्रयास कर रही है जबकि उनके खिलाफ मेम के बाग के मामले में आरोप लग रहे हैं। राठी ने कहा कि उनके धरना देने का उद्देश्य है कि भाजपा पार्टी को अवगत करवाय जाए कि उनकी पार्टी का विधायक तानाशाही रवैया अपनाए हुए हैं। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी शांतिपूर्ण तरीके से धरना प्रदर्शन करेगी।

यह भी पढ़ें- हुड्डा बोले- गठबंधन सरकार की नीयत और नीतियों से परेशान है किसान

यह भी पढ़ें- ओपी चौटाला की रिहाई हम सबके लिए राहत और खुशी भरी खबर: दिग्विजय चौटाला


बता दें कि इससे पूर्व भी मनोज राठी को विधायक विनोद भयाना द्वारा नोटिस भेजा गया। विधायक विनोद भयाना का नोटिस भेजने वाले अधिवक्ता सुरेंद्र राजपाल ने फोन पर बताया कि उनके क्लाइंट पर गलत आरोप लगाकर उनकी छवि धूमिल की गई है। उन्होंने बताया कि इससे पूर्व भी अभद्र व असंसदीय भाषा का इस्तेमाल किया था जिसकी तीन वीडियो क्लिप उनके पास हैं। उन्होंने कहा कि उनके क्लाइंट राजनीतिक आरोपों का जवाब देने के लिए हमेशा तैयार रहते हैं लेकिन इस प्रकार की अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया गया जिससे विधायक विनोद भयाना की मानहानि हुई है। उन्होंने कहा कि दस दिनों के अंदर मनोज राठी को नोटिस का जवाब देना है।